आंखों में जलन कारण, लक्षण और उपचार

आंखों में जलन कारण, लक्षण और उपचार

लाल आंखें (या लाल आंख) एक ऐसी स्थिति है जिसमें आंख की सफेद सतह लाल हो जाती है या “रक्तमय” हो जाता है । लाल आंख एक या दोनों आंखों में हो सकती है  और यह कई लक्षणों से जुड़ी हो सकती है,दिन भर, कम्प्यूटर के सामने बैठकर काम करने वाले लोगों को भी अक्सर, आंखों में जलन (Itchy Eyes) की समस्या होती है। 

आंखों में जलन की समस्या कारण।  

हमारी आंखें एक खिड़की तरह हैं जिसके माध्यम से आप अपने आस-पास की खूबसूरत दुनिया को देखते हैं। आंखों की जलन और थकान आपके दैनिक जीवन को प्रभावित करती है और आपको दुखी बनाती है। ज्यादा टीवी देखना, मोबाइल, टीवी, लैपटॉप के ज्यादा उपयोग से भी आपको आँखों में जलन की परेशानी  होती है.  लाल आंखें पैदा करने वाली सामान्य आंख की स्थितियों में शामिल हैं:अधिक तीखे और मसालेदार चीजों का सेवन,  शुष्क आंखें ,गुलाबी आँख, डिजिटल आई स्ट्रेन, नजर गढ़ाए रखने वाले काम को करते रहने से, ज्यादा तेज रोशनी में काम करने से देर तक काम करते रहने से, 
आंखों की एलर्जी, कार्नियल पर चोट या घाव का होना, ग्लूकोमा (आंखों पर दबाव बढना), कॉन्टेक्ट लेंस पहनने से लाली, प्रदूषण की वजह से आखों को होने वाला नुकसान , काला मोतिया, हाल ही में आँख की  सर्जरी की वजह से भी आंखों में दर्द हो सकता है, नेत्र संक्रमण, आँख में आघात या चोट,कॉर्निया संबंधी अल्सर, धूम्रपान (तंबाकू या गाँजा आदि ) निश्चित रूप से- लाल आँखें पैदा कर सकता है, जैसा कि शराब के सेवन से हो सकता है ।

लक्षण :- लाल आंख एक या दोनों आंखों में हो सकती है  और यह कई लक्षणों से जुड़ी हो सकती है, जिनमें निम्न लक्षण सम्मिलित हैं :- आंखों में कुछ पड़ जाने जैसी अनुभूति, आँखों में चिड़चिड़ाहट,  आँखों में जलन, आँखों में खुजली, आंखों में सूखापन (ड्राइनेस्स), ग्लूकोमा (आंखों पर दबाव बढना), आँखों में दर्द, आंखों में निर्वहन, आँखों में बहुत पानी आना, प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता, ज्यादा तेज रोशनी में काम करने से देर तक काम करते रहने से,  प्रदूषण की वजह से आखों को होने वाला नुकसान,  धुंधली द़ष्टि, द़ष्टि कमजोर पड़ना,  आंख या इसके आस-पास दर्द, कुछ मामलों में, आंखों में दर्द होने पर तेज सिरदर्द होना, हवा में बुलबुले, धब्बे या छाया दिखना, रक्तमय आंखों में लालिमा के अलावा कोई लक्षण नहीं हो सकते हैं । आपको ऊपर बताये गए लक्षणों में से कोई भी लक्षण नजर आ रहे हो या आंखों में दर्द से संबंधित कोई भी समस्या हो रही हो, तो तुरंत ही सबसे अच्छा और सुरक्षित तरीका, अपने नेत्र चिकित्सक से परामर्श करें और सबसे प्रभावी उपचार का विकल्प प्राप्त करें ।

आंखों में जलन की समस्या के उपचार

क्योंकि लाल आंख के बहुत सारे कारण होते हैं कुछ ऐसे भी जो गंभीर होते हैं और उन पर तुरंत ध्यान देने की आवश्यकता होती है, आपको अपने नेत्र चिकित्सक को तुरंत दिखाना चाहिए यदि आपके पास लाल, रक्तवर्ण आँखें हैं – खासकर यदि लालिमा अचानक आती है और असुविधा या धुंधली दृष्टि से जुड़ी होती है । आंखों में जलन या खुजली तेजी से एक आम समस्या बनती जा रही है। खासकर शहरों में जहां लोग प्रदूषण की वजह से आंखों में जलन की समस्या का सामना कर रहे हैं। आइए हम आंखों की जलन और थकान को दूर करने के घरेलू उपचारों के बारे में बात करते हैं।
योग संख्या 1 :- गर्मी में आंखों में जलन और इनके लाल होने की समस्या अक्सर बढ़ जाती है. ऐसा तभी होता है जब शरीर के भीतर गर्मी बढ़ जाती है. इससे निजात पाने के लिए आप रोजाना खस के शर्बत का इस्तेमाल कीजिए. आंखों के लाल होने और जलन की समस्या आसानी से दूर हो जाएगी.
योग संख्या 2 :-

आप रोजाना दो से तीन बार अपनी आंखों को साफ पानी से धोइए। पानी न केवल आपकी आंखों को शुद्ध करता है बल्कि जलन से तुरंत आराम भी देता है। आप गुलाब जल में रूई डुबोकर पैच बना सकते हैं और इन्हें आंखों पर रखकर लेट सकते हैं या फिर गुलाब जल की एक या दो बूंद को आंखों में भी डालकर कुछ देर के लिए आराम करें। इससे, आंखों की सफाई भी होती है। साथ ही, उनमें महसूस होने वाली जलन और इरिटेशन जैसी समस्याओं से राहत भी मिलती है।
योग संख्या 3 :-ठंडा दूध आंखों की जलन और थकान को दूर करने के लिए बहुत ही उपयोगी है। दूध में मौजूद कई तत्व आंखों के संक्रमण और थकान को दूर करने में सहायक होते हैं। आप गाय का थोड़ा सा दूध पानी में डालें और इस पानी की आंखों पर छपाके मारें। यानि छीटें मारें। आप चाहें तो ठंडे दूध का पैच बना सकते हैं या फिर ठंडे दूध से आंखों पर मालिश कर सकते हैं। –
आंखों की सूजन दूर करने के लिए गाय के दूध की मलाई का पलकों के उपर लेप लगाने से आंखों की सूजन कम हो जाती है। और धीरे—धीरे खत्म भी हो जाती है।
योग संख्या 4 :-नहाने से पहले गाय के दूध से तैयार मक्खन का लेप आंखों की पलकों पर लेप करने से आंख की जलन शांत हो जाएगी।
आधा कप इमली की पत्तियों के लेप को एक कप गाय के दूध में मिला लें और इसे किसी कांसे के कप या गिलास में डाल दें और इसे अच्छी तरह कम से कम 15 मिनट तक इसे घोटें। अब इसे आंख की चारों ओर लगाएं। इससे आंख की जलन, आंख की लालिमा और आंखों से पानी बहने की समस्या ठीक हो जाएगी।

योग संख्या 5 :-आप रूई के एक टुकड़े को कैस्टर ऑयल या रेंड़ी के तेल में डुबोकर हल्के हाथों से निचोड़ लें। इसके बाद इन्हें आंखों पर रखकर लेट जाएं। आप चाहें तो उंगलियों में कैस्टर ऑयल लगाकर हल्के हाथों से मालिश भी कर सकते हैं।
योग संख्या 6 :-आप खीरे के पतले-पतले टुकड़े काटकर उन्हें फ्रिज में रख दें। कुछ देर के लिए खीरे के इन टुकड़ों को आंखों पर रखकर लेट जाएं। जलन और थकान दूर करने का ये बेहद प्रभावशाली और आसान तरीका है।
योग संख्या 7 :-खीरे की ही तरह आलू के भी पतले-पतले टुकड़े काटकर फ्रिज में रख दें और जब ये ठंडे हो जाएं तो इन्हें आंखों पर रखकर लेट जाएं। आपको आंखों की जलन और थकान में जरूर फायदा मिलेगा।

योग संख्या 8 :-नारियल तेल को हमेशा से एक अच्छा मॉइस्चराइजर कहा जाता रहा है और आँखों से पानी आने पर इसे आँखों के चारो ओर हलके हलके मसाज करके लगायें जिससे आपकी आँखों से पानी आने की समस्या दूर हो जायेगी और आपको आराम मिलेगा।
योग संख्या 8 :-आँखों में कोई भी समस्या होने पर इलायची बहुत कारगर मानी जाती है और इसके इस्तेमाल से आँखों से पानी आना बंद हो जाता है। एक गिलास दूध में दो इलायची मिलाएं और सेवन करे जिससे आँखों से पानी आना और कोई भी इन्फेक्शन धीरे धीरे खत्म होने लग जाएगा।
योग संख्या 9 :-एक टी बैग ले और उसे कुछ देर गर्म पानी में रखे और जब यह गर्म हो जाए तो इसे अपनी आँखों में रखे और लगभग पांच मिनट तक ऐसा करके रखे जिससे आपके आँखों से पानी आना बंद हो जाएगा और आपको आराम मिलेगा।

सावधानी
आपको जो भी उपाय बताए गए हैं वे आपको आंख के उपर ही करने हैं। आंख के अंदर किसी भी प्रकार की चीज ना जाएं। इसका ख्याल जरूर रखें।

डिस्कलेमर : इस लेख में दिए गए विचार लेखक के हैं।Devparsad इसके लिए जिम्मेदार नहीं है और न ही इसकी सत्यता और प्रमाणिकता का दावा करता है। कोई भी उपाय करने से पहले चिकित्सक से सलाह जरूर लें।

Please follow and like us:

Leave a Comment

Your email address will not be published.

0

TOP

X