बालों को झड़ने की समस्या कारण, लक्षण और उपचार

बालों को झड़ने की समस्या कारण, लक्षण और उपचार

हमारे सिर में बालों के 100,000 रेशे होते हैं और एक दिन में 50 से 100 रेशे टूटना बहुत सामान्य माना जाता है। लेकिन जब इससे अधिक बाल टूटने लगें तो इससे गंजापन हो सकता है।  लगभग हर इन्सान को कभी न कभी, किसी न किसी रूप में हेयर लॉस की परेशानी से जूझना पड़ता है।   यह भी देखा जा सकता है कि बाल पतले होने लगते है और एक या अधिक जगह पर गंजापन आ जाता है। अब प्रदूषण के कारण भी बाल तेजी से झड़ने लगे हैं।

बालों का झड़ना की समस्या कारण।  

बाल गिरने के कई अलग-अलग कारण होते है। चिकित्सा विज्ञान के आधार पर बालों का झड़ना कई प्रकार के हो सकते हैं:- लंबी बीमारी, बड़ी शल्य क्रिया अथवा गंभीर संक्रमण जैसे बड़े शारीरिक तनाव से दो या तीन महीने के बाद बालों का झड़ना एक सामान्य प्रक्रिया है। पूरे शरीर से बालों की प्राथमिकता क्षति को एलोपेशिया टोटानिस के रूप में जाना जाता है. कुछ चिकित्सीय उपचारों में, जैसे कि कैन्सर के लिए केमोथेरेपी से भी पूरे शरीर के बाल झड़ सकते हैं. बाद में आमतौर पर बाल फिर से उग आते हैं.
हार्मोन स्तर में आकस्मिक बदलाव के बाद भी यह हो सकता है, विशेषकर स्त्रियों में शिशु को जन्म देने के बाद यह हो सकता है। साधारण तरीके से बाल झड़ते रहते हैं किन्तु गंजापन दिखाई नहीं देता है। बालों का झड़ना कुछेक औषधियों के खाने के कारण हो सकता है और यह अचानक पूरे सिर पर प्रभावी हो सकता है। बालों का झड़ना चिकित्सा बीमारी का लक्षण हो सकता है जैसे कि अवटुग्रंथि (थाइरॉयड) विकृति, सेक्स हार्मोन में असंतुलन या गंभीर पोषाहार समस्या विशेषकर प्रोटीन, लौह, जस्ता या बायोटीन की कमी। यह कमी खान-पान में परहेज करने वालों और जिन महिलाओं को मासिक धर्म में बहुत ज्यादा रक्त स्राव होता है उनमें यह आम है। सिर की त्वचा (खोपड़ी)- इसमें फफूंद-खोपड़ी में जब विशेष प्रकार की फफूंद से संक्रमण हो जाता है तो बीच बीच में बाल झड़ने लगते हैं। बच्चों में आमतौर पर बीच-बीच के बाल झड़ने का संक्रमण पाया जाता है।
लक्षण :- अक्सर माथे के दोनों तरफ से एक रेखा में शुरू होता है, जो कि काफी हद तक अंग्रेजी के एम अक्षण जैसा होता है. स्त्रियों में आमतौर पर माथे की हेयरलाइन घनी रहती है लेकिन बालों के बीच का हिस्सा चौड़ा हो जाता है जो कि ‘‘क्रिसमस ट्री’’ से काफी मेल खाता है. कुछ लोग अपने सिर पर सिक्के के आकार के गंजेपन के चकत्ते महसूस करते हैं जो कि आमतौर पर तब तक अनदेखे रह जाते हैं जब तक कि वे नाई के यहां जाते हैं. इस प्रकार का बालों का झड़ना भवों, बरौनियों, दाढ़ी, छाती, हाथ-परों तथा जननांगों के आसपास भी देखे जा सकते हैं. कुछ मामलें में प्रभावित त्वचा बालों के झड़ने से पहले चिपचिपी या दर्दनाक हो सकती है.हल्के से छूने से गुच्छों में बालों का झड़ना: किसी शारीरिक या भावनात्मक आघात से बाल ढीले पड़ सकते हैं. कंघी करने या बालों को धोने या हल्के से सहलाने पर भी मुठ्ठी भर बाल आपके हाथ में आ सकते हैं. इस प्रकार के बालों के झड़ने में आमतौर पर सिर पर बहुत बाल रह जाते हैं, हालांकि चकत्तों में गंजेपन की स्थिति नहीं पैदा होती है. स्कैल्प पर किसी प्रकार के संक्रमण के कारण पपड़ी का जम जाना।
बालों का गुच्छों में टूटना। बालों के प्राकृतिक रंग में बदलाव आना।  सिर में देर तक खुजली होना, स्कैल्प में दर्द होना।

बालों को झड़ने की समस्या के उपचार 

आज की पीढ़ी जंक फूड खाना ज्यादा पसंद करती है। ऐसे में उनके शरीर के साथ-साथ बालों को भी सही पोषण नहीं मिलता है। यही वजह है कि बाल झड़ने की समस्या आज आम हो गई है।  आपको बाल झड़ने की समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए कुछ आसान व घरेलू उपाय बता रहे हैं−

योग संख्या 1 :- अपने बालों को खोने का नुकसान कम करने के लिए जो पहला कदम आप उठा सकते हैं वह है तेल के साथ अपने सिर की मालिश करना। बालों और सिर की नारियल या बादाम का तेल, जैतून का तेल, अरंडी का तेल, आंवला तेल, या अन्य तेल से उचित मालिश करने से बालों के रोम में रक्त का प्रवाह बढ़ता है और आपके बालों की जड़ों की शक्ति में वृद्धि होती है।

योग संख्या 2 :- सदियों से आंवले का उपयोग बालों को स्वस्थ बनाने के लिए किया जा रहा है। इसमें विटामिन-सी के साथ-साथ क्वेरसेटिन जैसे कई पॉलीफेनोलिक यौगिक पाए जाते हैं। इन पोषक तत्वों से भरपूर आंवला बालों को मजबूती प्रदान के करने के साथ ही उनके विकास में मदद करता है। बालों के प्राकृतिक और तेज़ी से विकास के लिए, आप आंवले का भी उपयोग कर सकते हैं। आंवला में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है,यह बालों को सफेद होने और झड़ने से रोकता है। साथ ही यह शरीर में कैल्शियम को अवशोषित करने में मदद करता है, जो हड्डियों के साथ-साथ बालों के लिए भी जरूरी है । 

योग संख्या 3 :-  इसके लिए कुछ नीम के पत्ते लें और इसे पानी में उबाल लें। अब इससे अपने बालों को धोकर सिर की 5 से 10 मिनट तक अच्छी तरह मालिश करें। कुछ महीनों तक ऐसा हर दूसरे दिन करें।
योग संख्या 4 :- कुछ करी पत्ते लें और किसी भी हेयर ऑयल में मिलाकर थोड़ी देर गर्म कर लें। ठंडा हो जाने पर इससे अपने बालों और सिर पर मसाज करें। दो हफ्तों तक ऐसा हर रोज़ करें।
योग संख्या 5 :- एक प्याज लें और इसे अच्छी तरह छीलकर बड़े-बड़े टुकड़ों में काट लें। अब इसे मिक्सर में पीसकर इसका जूस निकाल लें। इसमें एक बड़ा चम्मच गुलाब जल और एक चम्मच शहद भी मिला लें। इसे अपने पूरे सिर और बालों पर लगाकर 5 मिनट तक मालिश करें। आधे घंटे बाद धोकर शैम्पू कर लें। हफ्ते में ऐसा दो बार करें। 
योग संख्या 6 :- आपको कटेरी के 20-30 एमएल रस में थोड़ा सा शहद मिलाकर सिर में लगाकर मालिश करना चाहिए।ऐसा करने से आपके सर पर नए बाल आ जाएंगे।
योग संख्या 7 :- दही और नींबू का मेल आपके बालों का झड़ना रोक एक प्राकृतिक मॉश्चराइज़र के तौर पर काम करता है। यह सिर की त्वचा के रुखेपन को दूर करता है और डैंड्रफ को भी कम करता है। इसे तैयार करने के लिए दही में नींबू के रस की कुछ बूंदें मिलाकर बालों पर लगाएं। थोड़ी देर सूखने के बाद इसे धो लें।
योग संख्या 8 :- खस में मिनरल जैसे कैल्शियम होता है जो बालों का झड़ना कम करके नए बाल उगाने में मदद करते हैं। खसके इस्तेमाल से बाल शाइनी और हेल्दी बनते हैं। नारियल तेल में खस डालकर उसको अच्छी तरह से तेल में मिला लें। उसके बाद स्कैल्प में लगायें। बेहतर परिणाम के लिए इसको हफ़्ते में तीन बार इस्तेमाल कर सकते हैं।
योग संख्या 9 :-भृंगराज तेल में मौजूद मेथनॉल नामक पोषक तत्व बालों के विकास को आसान बनाने में मदद कर सकता है। इसके तेल से नियमित मालिश स्कैल्प के रक्त संचार में मदद कर सकती है। यह तत्व बालों की जड़ तक जाता है और बालों को मजबूत करने के साथ ही बालों को झड़ने से भी रोक सकता है।
रोकथाम :- तनाव कम कर, उचित आहार लेकर, बाल संवारने की उचित तकनीक अपनाकर और यदि संभव हो तो बालों को झड़ने से रोकनेवाली दवाइयों का उपयोग कर बालों के झड़ने की समस्या को रोका जा सकता है। फफूंद संक्रमण की वजह से बालों को झड़ने की समस्या को बालों की सफाई पर ध्यान देकर, दूसरों के ब्रश, कंघी, टोपी आदि का उपयोग न कर बचा जा सकता है। दवाइयों की सहायता से वंशानुगत गंजेपन के कुछ मामलों को रोका जा सकता है।

Please follow and like us:

Leave a Comment

Your email address will not be published.

0

TOP

X